Warning: Attempt to read property "post_excerpt" on null in /home/u525298349/domains/jeanspants.info/public_html/wp-content/themes/blogus/single.php on line 77

उत्तराखंड के केदारखंड क्षेत्र को विकसित करने के बाद मानसखंड के विकास को नई दिशा देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 अक्टूबर को दो दिवसीय दौरे पर उत्तराखंड पहुंच रहे हैं। पहले तो योजना बन चुकी है कि वह यात्रा की शुरुआत अल्मोडा स्थित जागेश्वर धाम से करेंगे. जागेश्वर धाम अपने पौराणिक एवं ऐतिहासिक महत्व के लिए प्रसिद्ध है। जागेश्वर धाम समुद्र तल से लगभग 6200 फीट की ऊंचाई पर पतित पावन जटागंगा के तट पर स्थित है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, यहां भगवान शिव और सप्तऋषियों ने तपस्या की थी।

PM Modi Kumaon Visit

जागेश्वर के बाद आदि कैलाश से देंगे भक्ति का संदेश

जागेश्वर मंदिरों का निर्माण कत्यूरी शासनकाल के दौरान हुआ था। प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर इस क्षेत्र में जागेश्वर धाम के प्राचीन मंदिर सदियों से आध्यात्मिकता का परिचय दे रहे हैं। यहां लगभग 224 छोटे-बड़े मंदिर स्थित हैं। मंदिरों का निर्माण लकड़ी और सीमेंट की बजाय बड़े-बड़े पत्थरों से किया गया है। दरवाजे के चौखटों को देवी-देवताओं की मूर्तियों से सजाया गया है। मंदिरों के निर्माण में तांबे की चादरें और देवदार की लकड़ी का भी उपयोग किया गया है।

यहां पहुंचना भी अब आसान हो गया है. काठगोदाम यहां पहुंचने वाला आखिरी रेलवे स्टेशन है। दिल्ली आनंद विहार आईएसबीटी और देहरादून से हलद्वानी और अल्मोडा के लिए भी बस सेवाएं हैं। दिल्ली और देहरादून से वहां की दूरी करीब 400 किलोमीटर है. अल्मोड़ा से जागेश्वर धाम के लिए टैक्सी सेवा उपलब्ध है। अल्मोडा से जागेश्वर धाम की दूरी 35 किलोमीटर है। इसी प्रकार, पंतनगर हवाई अड्डे के लिए भी नजदीकी हवाई सेवा है। पंतनगर से टैक्सी द्वारा 150 किलोमीटर की दूरी तय कर जागेश्वर धाम पहुंचा जा सकता है।

PM Modi Kumaon Visit

100 साल से भी ज्यादा पुराने आश्रम में रुक सकते हैं मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दौरा अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में उत्तराखंड के सुरम्य पिथौरागढ़ जिले में होने वाला है। पीएम मोदी 12 अक्टूबर को इस महत्वपूर्ण यात्रा पर निकलेंगे और अपने प्रवास के दौरान उन्हें प्रसिद्ध मायावती आश्रम में ठहराया जाएगा। उन्हें चीन सीमा के पास स्थित पवित्र स्थल आदि कैलाश पर आशीर्वाद लेने का अवसर मिलेगा। यह पवित्र तीर्थ स्थल अपनी मनमोहक सुंदरता और आध्यात्मिक महत्व के लिए जाना जाता है जो हर साल अनगिनत भक्तों को आकर्षित करता है।

साथ ही अपने इस दौरे में पीएम मोदी ने ब्यास घाटी के भीतर बसे जोलिकांग के विस्मयकारी वैभव को देखने की इच्छा भी जताई है. यह प्राकृतिक आश्चर्य सुरम्य परिदृश्य का प्रतीक है जो आगंतुकों के दिमाग और दिल पर एक अमिट छाप छोड़ता है। प्रधानमंत्री कुल 4194 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे।

PM Modi Kumaon Visit

स्थानीय अधिकारी पीएम मोदी के लिए न केवल एक सुचारु यात्रा कार्यक्रम सुनिश्चित करने के लिए बल्कि उनकी पूरी यात्रा के दौरान एक अविस्मरणीय अनुभव सुनिश्चित करने के लिए लगन से काम कर रहे हैं। इस महत्वपूर्ण अवसर का उत्साह दूर-दूर तक महसूस किया जा सकता है। प्रधान मंत्री की यह महत्वपूर्ण यात्रा न केवल उत्तराखंड के पर्यटन उद्योग के लिए एक जीवंत तस्वीर पेश करती है, बल्कि इस विविधतापूर्ण राष्ट्र के सबसे दूरस्थ कोनों की खोज के प्रति उनकी प्रतिबद्धता का भी प्रमाण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *