Warning: Attempt to read property "post_excerpt" on null in /home/u525298349/domains/jeanspants.info/public_html/wp-content/themes/blogus/single.php on line 77

उत्तराखंड पर्यटन राज्य के रूप में पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। यहां कई पर्यटक स्थल हैं जो दुनिया भर से पर्यटकों को आकर्षित करते हैं, अब यहां साल भर पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है। यात्रा सीजन में पैक हो जाती है उत्तराखंड की ये जगह तो आइये इन जगह पर।

Places to visit in Uttarakhand

ऐसे पर्यटन स्थलों जहां आपको भीड़-भाड़ से दूर मिलेगी शांति

मसूरी, नैनीताल, चकराता, मुंस्यारी, कौसानी सहित सभी शहर हमेशा पर्यटकों से गुलजार रहते हैं, लेकिन इसके अलावा उत्तराखंड में कुछ खूबसूरत जगहें भी हैं जो पर्यटकों की नजर से दूर हैं। इन पर्यटन स्थलों की खूबसूरती देखने लायक है। आज हम आपको ऐसे पर्यटन स्थलों के बारे में बताएंगे, जहां आपको भीड़-भाड़ से दूर शांति मिलेगी।

गरतांग गली-

गरतांग गली, यह जगह भारत-चीन सीमा के पास नेलांग घाटी में स्थित है, यह जगह लगभग 150 साल पुरानी है। कहा जाता है कि 150 मीटर लंबे इस पैदल ट्रैक को पेशावर के पठानों ने बनवाया था। समुद्र तल से 11 हजार फीट की ऊंचाई पर खड़ी चट्टान को काटकर तैयार किया गया यह पुल पहाड़ों के किनारे बनाया गया था, जिसे वर्ष 2019 में नवीकरण के बाद एक बार फिर पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है। गरतांग गली इसका गवाह रही है भारत और तिब्बत के बीच व्यापारिक संबंध। लेकिन भारत-चीन युद्ध के बाद यह स्थान व्यापार के लिए भी बंद कर दिया गया।

Places to visit in Uttarakhand

टिहरी झील की तैरती झोपड़ियाँ-

टिहरी राज्य को अब साहसिक खेलों के हॉटस्पॉट के रूप में विकसित किया जा रहा है। साहसिक खेल प्रेमी यहां नौकायन का आनंद ले सकते हैं, साथ ही तैरती झोपड़ियों में रात भी बिता सकते हैं। यहां पहाड़ों के बीच पानी पर बनी झोपड़ी में रात बिताना एक अनोखा अनुभव है। ये झोपड़ियाँ पूरी तरह से पर्यावरण के अनुकूल और आरामदायक हैं। हट्स में ठहरने वाले पर्यटकों को उत्तराखंड के पारंपरिक व्यंजनों के साथ-साथ स्थानीय और विदेशी व्यंजन भी परोसे जाते हैं। इस स्थान को अब भारत का मालदीव या उत्तराखंड कहा जाता है।

Places to visit in Uttarakhand

नागताल-केदार घाटी में फाटा से तीन किलोमीटर दूर स्थित नागताल बेहद खूबसूरत जगहों में से एक है। यहां महर्षि जमदग्नि का प्राचीन आश्रम और ननतोली देवी का मंदिर भी है। तालाब के चारों ओर देवदार और अन्य प्रजाति के पेड़ों का घना जंगल है। इस स्थान पर फाटा-जम्मू-नागताल ट्रैकिंग मार्ग भी विकसित किया जा रहा है। उस स्थान तक पहुंचने के लिए आपको ऊंचाई पर चढ़ना होगा। यह स्थान उन लोगों की प्यास बुझा सकता है जो एक समय में लंबी पैदल यात्रा और शांति की तलाश में हैं।

Places to visit in Uttarakhand

देहरादून का आनंदवन- राजधानी देहरादून में स्थित आनंदवन एक नया स्थान है, यहां जड़ी-बूटियों, पेड़ों की झोपड़ी, बांस की झोपड़ी, उत्तराखंड में पाए जाने वाले हाथी, तेंदुआ, बाघ जैसे जानवरों की प्रतिकृतियां के साथ नक्षत्र वाटिका देखी जा सकती है। यहां एक ध्यान केंद्र है. लोग यहां आकर कुछ देर ध्यान कर सकते हैं। इसके अलावा बर्मा ब्रिज, कमांडो नेट और जिप लाइन जैसी गतिविधियां भी की जा सकती हैं। बच्चों को आकर्षित करने के लिए यहां तितली उद्यान और पक्षियों का स्वर्ग बनाया गया है।

चेनाप झील- जोशीमठ में 13 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित इस घाटी को फूलों की दूसरी घाटी भी कहा जाता है। जोशीमठ से घाटी तक पहुंचने के दो रास्ते हैं। एक रास्ता घिवाणी से और दूसरा मेलारी टॉप से ​​होकर जाता है। यहां बरसात के मौसम में दुर्लभ फूलों की 300 से अधिक प्रजातियां खिलती हैं। फूलों की घाटी की तरह यह घाटी भी 15 दिन में अपना रंग बदल लेती है। यहां घाटी में कई तरह के जंगली जानवर भी पाए जाते हैं।

Places to visit in Uttarakhand

किलबरी जलाशय- किलबरी में घने जंगलों के बीच बना जलाशय, यह स्थान नैनीताल से 15 किलोमीटर दूर है, यह अब नैनीताल का नया पर्यटन स्थल बनकर उभरा है। यहां ट्रैकिंग रूट भी तैयार किया जा रहा है. यहां से ज्योलिकोट सहित तराई भाबर का विहंगम दृश्य देखा जा सकता है। इसके अलावा यहां विंटर लाइन देखने के लिए भी बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *